Apollo 17 Mission: The Last Men On The Moon-अपोलो 17 Mission Detailed Analysis-Space Documentary In Hindi

Apollo 17 Was The Last Apollo Mission- अपोलो मिशन का अंत हुआ अपोलो 17- Detailed Analysis In Hindi


apollo-17-mission,mission-apollo-hindi
Apollo-Mission ( Last Moon Mission )


नमस्कार दोस्तों आज के आर्टिकल में हम बात करेंगे अपोलो-17 मिशन के बारे में चुकी Apollo-17 Mission Last Moon और Apollo Mission माना जाता है। और अभी तक इतिहास में इसे ही Last Man Moon Mission माना जाता है तो आज के इस आर्टिकल में हम इसी बारे में विस्तार से बात करेंगे और समझेंगे की इस मिशन (अपोलो 17 ) के बाद कोई और मून मिशन क्यों नहीं हो पाया और क्या कारन है जो इस Mission को Mysterious और रहसमय तरीको से देखा जाता है। आज के पोस्ट में हम यही सब जान्ने वाले है। तो बिना देरी के Lets Get  Started... 

अपोलो 17 Mission Detailed Analysis-Space Documentary In Hindi

20 जुलाई, 1969 से लेकर 19 दिसंबर, 1972 तक American Space Agency NASA ने कुल 6 Mission चाँद पर भेजे जिस के चलते 12 एस्ट्रोनॉट्स चाँद पर कदम रखे उसी में से अपोलो 17 मिशन भी थे। Apollo Mission की शुरुआत Apollo 11 मिशन से हुयी 20 जुलाई, 1969 को अपोलो 11 मिशन द्वारा पहली बार मानव की चंद्रमा पर लैंडिंग हुई जिसमे 3 Crew Member थे नील आर्मस्ट्रांग, माइकल कॉलिन्स और बज़ एल्ड्रिन वैसे आर्मस्टॉन्ग और एल्ड्रिन Moon सतह पर चले गए जबकि कोलिन्स चंद्रमा के चारों ओर कक्षा में बने रहे मतलब अपने ही SpaceCraft में कमांड सँभालते रहे। 

चूकि, यह तो हुयी Moon 1st Mission लेकिन हम इस में आखरी मिशन मतलब Apollo-17 Mission के बारे में जानेंगे जिसमे Eugene Cernan  जो कमांडर थे और इन्होंने इस मिशन के साथ-साथ 2 बार पहले भी Space Mission कर चुके थे लेकिन इस मिशन में यह चाँद पर उतरने वाले आखरी व्यक्ति बने,Harrison Schmitt जो एक American Geologist है साथ ही इन्होने Apollo-17 Mission में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई यह भी चाँद पर उतरने वाले आखरी आदमी है और इनका Post एक Lunar Module Pilot था फिर आते है Ronald Evans जो एक अमेरिकन नवल अफसर और कमांड Module Pilot थे। तो Basically, Eugene Cernan और Harrison Schmitt चाँद पर उतरने वाले Last Men थे तो वही पर Ronald Evans SpaceCraft को Lead कर रहे थे। इसके आलावा अपोलो मिशन 17 में BackUp Team भी थी जिसमे 3 Crew Member आते है। पहला जॉन यंग जो Eugene Cernan के जैसा पोस्ट As A Commander थे फिर दूसरे थे चार्ल्स Duke Harrison Schmitt के पोस्ट के समान  यानि Lunar Module Pilot और Ronald Evans के स्थान पर स्टुअर्ट A  रोजा थे जो की एक कमांड मॉड्यूल पायलट थे। 


यह भी पढ़े : END OF THE EARTH | मानव जाति का भविष्य क्या है-धरती का अंत कब और कैसे होगा - WILL THE EARTH END IN 2060 ???


Apollo-17 Mission: क्या था अपोलो 17 मिशन का उद्देश्य ( In Hindi ) 

अब हम सबसे पहले बात करते है की इस Mission का उद्देश्य क्या था और चाँद के किस-किस भाग को Apollo-17 Mission के Rover द्वारा Study करना था। 

अपोलो 17 मिशन के Scientific उद्देश्य थे कुछ Research करना चाँद के कुछ जगहों से Material ला कर उसे जांच करना इत्यादि। चाँद की सतह पर Lunar Rover Vehicle को चलाना और उन Sites को खंघालने की जो Research के नजरिये से उचित था जो बहुत ही पुराने हो जैसे की  Alphonsus, Gassendi क्रेटर और Taurus Littrow Valley. वे चाहते थे की यहाँ से इन जगहों से Sample को ले जाकर Moon Formation को समझना। इसके आलावा भी कुछ उदेश्य थे जो निचे दिए गए है। 

apollo-17,taurus-littrow-valley-moon
Taurus-Littrow-Valley-On-Moon


apollo-mission,alphonsus_crater_in_hindi
Alphonsus-Crater


apollo-mission,gassendi_crater_in_hindi
Gassendi-Crater-On-Moon


  1. सतह विशेषताओं का भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण और नमूनाकरण 
  2. चन्द्रमा की कक्षा और पारगमन तट के दौरान इन-फ़्लाइट प्रयोगों और फोटोग्राफिक कार्यों का संचालन करना। इन उद्देश्यों में अपोलो लूनर सरफेस एक्सपेरिमेंट्स पैकेज या ALSEP जैसे गर्मी प्रवाह प्रयोग के साथ तैनात प्रयोग शामिल थे
  3. चंद्र भूकंपीय रूपरेखा, या एलएसपी
  4. चंद्र सतह ग्रैविमीटर, या एलएसजी
  5. चंद्र वायुमंडलीय संरचना प्रयोग, या LACE 
और,चंद्र कक्षीय प्रयोग भी शामिल थे। बायोमेडिकल प्रयोगों में बायोस्टैक II प्रयोग और BIOCORE प्रयोग शामिल थे।

Note :- क्या आप सोच सकते है की अपोलो 17 यह अपोलो कार्यक्रम का अंतिम और ग्यारहवां मानव अभियान था। रात मे प्रक्षेपित होने वाला यह पहला अभियान था। इस अभियान की विशेषता थी कि पहली बार कोइ वैज्ञानिक चन्द्रमा पर जा रहा था। इसके पहले सभी यात्री सेना से थे। यह एक विडंबना है या संयोग यह विज्ञानी चन्द्रमा पर जाने वाला आज की तारीख तक आखीरी मानव है।


यह भी पढे :क्या हम मानव का यहाँ धरती पर होना डायनासोर की वजह से हुआ है || DINOSAUR का END मानव का जन्म


आप को पता होना चाहिए की इसी मिशन ( Apollo 17 Mission  ) के दौरान क्रू ने ऐतिहासिक The Blue Marble नाम की तस्वीर ली थी।जो काफी विख्यात रही है। 

Apollo 17 Mission: The Last Men On The Moon ( Space Documentary In Hindi )

अब हम बात करते है इसके Lift-Off और Landing की, दरसअल दोस्तों अपोलो 17 मिशन रात में Launch होने वाला पहला मिशन था क्योकि इससे पहले बाकि किसी भी मिशन को रात में Lead नहीं किया गया था। अपोलो 17 मिशन दिनांक 7 दिसंबर 1972 को भारतीय घड़ी अनुसार 10:03  पर फ्लोरिडा के Kennedy Space Centre से लॉन्च हुआ था और दिनांक 19 दिसंबर 1972 को 12 दिन 13 घंटे 51 मिनट और 59 सेकंड के बाद धरती पर वापस आया। Recovery Ship था USS टिकोन्डरोगा और Landing Site प्रशांत महासागर था। आपको मैंने बताया है की Apollo-17 Mission चांद पर भेजा गया नासा का छठा और आखिरी अपोलो 17 मिशन था। 

आप जानते है की किसी भी चीज़ की नींव रखना कितना महत्वपूर्ण और साहस का काम है आज  Space में Astronaut 6-6 महीने तक रह जाते है ISS ( International Space Station ) में। इसका कही-न-कही Apollo Mission का बहुत बड़ा योगदान है। 

दोस्तों अब हम बात करते है Apollo 17 के सम्बन्ध में पूछे गए कुछ 7 सवाल और  जवाब को तो आईये देखते है। 


Apollo 17 Mission: Top 7 Questions And Answers In Hindi 

आईये अब हम उन प्रश्नों का उतर देखते है जो लोगो द्वारा Google  और Bing जैसे Search Engine पर खोजे जाते है। 

1. अपोलो 17 चंद्रमा पर अंतिम मिशन क्यों था?

दोस्तों Apollo 17  मिशन के बाद कोई चाँद मिशन नहीं हुआ है उसके कई कारण है लेकिन कुछ मुख्य कारण है जैसे की इसमें 1000 करोड़ से भी ज्यादा जैसे बड़े रकम की लागत होती है मतलब चाँद मिशन बहुत ज्यादा लागत में होते है और दूसरा कारण यह है की इतने बड़े रकम बार-बार चाँद पर Mission करने में लगाते है तो बाकी और Space Substance जैसे ग्रह और उल्कापिंड को कैसे हम जान सकते है क्योकि इस सब को भी जानना तो जरुरी है ना,इत्यादि। 

2. अपोलो 17 कितने समय तक चंद्रमा पर रहा?

अपोलो 17 मिशन में वैसे तो कुल 75 घंटे लगे मतलब Lunar Surface Stay Duration 75 घंटे की थी वही पर चंद्र की कक्षा का समय 17 घंटे था।The lunar rover vehicle का चाँद पर 30.5 Km का सफर रहा। 

3. अपोलो 17 ने चंद्रमा पर क्या किया?

आप को मैंने बता दिया की अपोलो 17 मिशन चाँद का आखरी मानव मिशन था जिस माध्यम से 3 Crew चाँद पर उतरे जिसके चलते हमे The Blue Marble जैसे Image मिले इसके आलावा भी चाँद के वॉलकैनो और पुरानो Sites से Research के नजरिये से Sample लाया गया। 

4. अपोलो 17 की लागत कितनी थी?

देखो दोस्तों ऐसे तो हम कुछ नहीं कह सकते है लेकिन कुछ Search करने के बाद मुझे पता चला  की 1973 की शुरुआत में नासा ने कांग्रेस को लिखित गवाही प्रदान की जिसमें अपोलो की कुल लागत $ 25.4 बिलियन थी।अब यह बाते कहा तक सत्य है हम नहीं जानते है क्योकि हम तो किसी अखबार,टीवी और Google जैसे माध्यम से ही इस बात को जानते है। 

5. अपोलो 17 कितने समय तक चला?

आप जानते ही है की अपोलो 17 मिशन दिनांक 7 दिसंबर 1972 को भारतीय घड़ी अनुसार 10:03  पर फ्लोरिडा के Kennedy Space Centre से लॉन्च हुआ था और दिनांक 19 दिसंबर 1972 को धरती पर वापस आया। अपोलो 17 अंतिम चंद्र लैंडिंग मिशन था। Three Extravehicular Activities, Or EVAs, चंद्र सतह पर कुल 22 घंटे, चार मिनट तक चली।

6.अपोलो 17 पृथ्वी पर कब लौटा?

The Last मानव Mission अपोलो 17 को ही माना जाता है जो सत्य भी है 7 दिसम्बर 1972 से 19 दिसम्बर 1972 तक रहा यह मिशन। 

7.  अपोलो 17 द्वारा बनाये गए कुछ महत्वपूर्ण रिकॉर्ड ?

यह एक 12-दिन का मिशन था और इसने कुछ महत्वपूर्ण Records है जैसे की, सबसे लंबा स्पेस वॉक, सबसे लंबा चंद्र लैंडिंग और सबसे बड़ा चंद्र नमूना पृथ्वी पर वापस आया।इत्यादि। 


यह भी पढ़े:डायनासोर के अंत से कैसे मैमल्स इंसान में बदले ? DINOSAUR END & MAMMALS COMES


तो दोस्तों ये थे आज के महत्तपूर्ण मिशन के बारे में और मैं आशा करता हूँ की आपको पता चल गया है की अपोलो 17 मिशन किस लिए और कब व कहा से Lead किया गया। 

अब आपको अगर इस आर्टिकल से कुछ सिखने को मिला हो तो इसे अपने दोस्तों व रिश्तेदारों में Share करे साथ ही आप Comment के माध्यम से बता सकते है की आप क्या जानना चाहते है। 

 


Credit: Wikipedia,Youtube, Google

Posted By Ainesh Kumar


Related Post :

नेपच्यून के बारे में INTERESTING FACTS- नेपच्यून सौर मंडल में सूर्य से आठवां और आखिरी ग्रह है- NEPTUNE DOCUMENTARY IN HINDI

क्या होगा अगर एस्ट्रोनॉट अंतरिक्ष में खो जाए तो? (WHAT WOULD HAPPEN IF AN ASTRONAUT FLOATED AWAY INTO SPACE)

Previous
Next Post »

मैं आप सबका शुक्रिया अदा करता हूँ की आप ने मेरे आर्टिकल को पढ़ा और इतना सारा प्यार दिया . अब अगर आप को कोई Confusion है, तो आप कमेन्ट में पूछ सकते है .धन्यवाद . ConversionConversion EmoticonEmoticon